12 मार्च को दिखेगा शिक्षकों का जन सैलाब , विधासभा घेरने की जोरदार तैयारी CG Vidhansabha Gherav , Raipur Me Shikshakon Ka Jordar Pradarshan

12 मार्च को छत्तीसगढ़ सहायक शिक्षक फेडरेशन का विधानसभा घेराव , राजधानी में उमड़ेगी एकबार फिर शिक्षकों का जनसैलाब  CG Vidhansabha Gherav 12Th March 2021 , CG Sahayak Shikshak Federation 

a2zkhabri.com रायपुर - राजधानी रायपुर में लम्बे समय बाद एक बार फिर छत्तीसगढ़ सहायक शिक्षक फेडरेशन के नेतृत्व में सहायक शिक्षकों का जनसैलाब उमड़ने वाली है। सहायक शिक्षकों की बहुप्रतीक्षित एवं जायज मांग क्रमोन्नति एवं वेतन विसंगति में सुधार हेतु 12 मार्च को जंगी प्रदर्शन, विधानसभा घेराव का आयोजन होने वाला है। सहायक शिक्षक अपने वाजिब मांग एवं हक हेतु एकबार फिर राजधानी में 12 मार्च को लाखों की संख्या में पहुंचेंगे। 

संकुल स्तरीय बैठक प्रारम्भ - 12 मार्च को विधानसभा घेराव के सन्दर्भ में पुरे प्रदेश भर में संकुल स्तरीय सहायक शिक्षकों की बैठक शुरू हो गई है , बैठक में प्रमुख रूप से 12 मार्च की रणनीतियों एवं शतप्रतिशत सहायक शिक्षकों की उपस्थिति पर चर्चा हो रहा है। पुरे प्रदेश भर से सहायक शिक्षक अपने संकुल के माध्यम से और व्यक्तिगत रूप से रायपुर पहुँचाने की सहमति प्रदान कर चुके है। 

इसे भी देखें- संकुल समन्वयक चयन सूचि ,जारी कई पुराने समन्वयकों का पत्ता कट। 

क्रमोन्नति एवं वेतन विसंगति में सुधार ही एकमात्र मांग - सहायक शिक्षकों की प्रमुख मांग क्रमोन्नति एवं वेतन विसंगति में सुधार ही है। क्योंकि सहायक शिक्षक पिछले 22 - 23 सालों से सभी योग्यता रखने के बावजूद एक ही पद पर कार्यरत है उन्हें न तो पदोन्नति मिली है और न ही क्रमोन्नति। ऊपर से सहायक शिक्षक वेतन विसंगति की मार भी झेल रहे है। क्रमोन्नति , पदोन्नति नहीं मिलने से सहायक शिक्षकों को प्रतिमाह 10 हजार से 15 हजार रूपये की आर्थिक नुक्सान प्रतिमाह हो रहा है। 

इसे भी देखें- अब सुबह लगेगी मोहल्ला क्लास , गर्मी के कारण जिला अधिकारी ने जारी किया आदेश। 

सहायक शिक्षकों की हितैषी एकमात्र संगठन - ज्ञात हो की प्रदेश में सबसे अधिक जनसँख्या सहायक शिक्षकों की ही है लेकिन हर बार के आंदोलन में केवल संख्या बल के रूप में ही उपयोग होते आ रहे थे। पूर्व के हुए आंदोलनों में सहायक शिक्षकों को छोड़कर अन्य वर्ग के शिक्षकों को अधिक लाभ हुआ। पहले के संगठनों में  प्रान्त स्तरीय पदाधिकारियों में सहायक शिक्षकों का न होना उन्हें भारी पड़ गया और आज वेतन विसंगति के रूप में आज भी दंश झेल रहे है। 

इसे भी देखें- प्रमोशन न होने से नाराज शिक्षक छोड़ेंगे प्रभारी प्रधान पाठक के पद। 

सहायक शिक्षक फेडरेशन संघ का प्रमुख उद्देश्य केवल सहायक शिक्षकों की हितों की रक्षा करना और जायज मांग और अधिकार के लिए 24 घंटे तत्पर रखना है। सहायक शिक्षकों को ध्यान में रखकर ही छत्तीसगढ़ सहायक शिक्षक फेडरेशन संगठन का निर्माण किया गया है। पूर्व के आंदोलन में केवल सहायक शिक्षक संख्या बल के रूप में ही उपयोग होते थे , और असली मलाई कोई और खा जाते थे। 

इसे भी देखें - शिक्षक के रेगुलर पदों में फिर होगी भर्ती। 

12 मार्च को होगा विधानसभा घेराव - छत्तीसगढ़ सहायक शिक्षक फेडरेशन के अनुसार 12 मार्च को छत्तीसगढ़ विधान सभा घेराव का कार्यक्रम एवं जंगी प्रदर्शन करना है। फेडरेशन के सभी पदाधिकारियों ने प्रदेश के सभी सहायक शिक्षकों को 12 मार्च को शतप्रतिशत उपस्थित होने की अपील किये है। 

Post a comment

0 Comments