सरकारी नौकरी सिर्फ मूलनिवासियों को, मुख्यमंत्री ने कानून बनाने दिए निर्देश Sarkari Naukri Sirf Mulniwasiyon Ko CM Ne Kiye Ailan

 प्रदेश के युवाओं के लिए सरकार का बड़ा निर्णय अब सरकारी नौकरियों पर सिर्फ प्रदेश के पढ़े लिखे युवाओं का अधिकार Sarkari Naukri Sirf Mulniwasiyon Ko CM Ne Kiye Ailan 

a2zkhabri.com भोपाल -  मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने घोषणा की है कि सरकारी नौकरियां अब सिर्फ प्रदेश के युवाओं को ही मिलेंगे। उक्त घोषणा को मुख्यमंत्री ने वीडियो जारी कर किया। फिर ट्वीट कर कहा कि प्रदेश के संसाधनों पर पहला अधिकार राज्य के युवाओं का ही होगा। शिवराज सरकार ने इससे पहले भी 2009 में भी यही बात कही थी लेकिन क़ानूनी मामले के चलते उक्त घोषणा को अमल में नहीं ला पाए थे। 

इसे भी देखें- प्रधान मंत्री ने सभी के खातों में जारी की 2 - 2 हजार रूपये। 

शिवराज ने ट्वीट कर लिखा कि - मेरे प्यारे भांजे- भांजियों आज मंगलवार से मध्यप्रदेश के संसाधनों पर पहला अधिकार प्रदेश के युवाओं का होगा। सभी शासकीय नौकरियां सिर्फ प्रदेश के युवाओं के लिए ही आरक्षित रहेगी। हमारा लक्ष्य प्रदेश के प्रतिभाओं को राज्य के उत्थान में सम्मिलित करना है। 

दूसरे ट्वीट में कांग्रेस का नाम लिए बगैर लिखा कि - प्रदेश के युवाओं का भविष्य बेरोजगारी भत्ते की बैशाखी पर टिका रहे , यह हमारा लक्ष्य न कभी था और न ही है। जो यहाँ का मूलनिवासी है , वही शासकीय नौकरियों में आकर प्रदेश का भविष्य संवारें , यही मेरा सपना है।  मेरे बच्चों खूब पदों और फिर सरकार ने शामिल होकर प्रदेश का भविष्य गढ़ो। 

इसे भी देखें- माननीय मुख्यमंत्री भूपेश बघेल कल जारी करेंगे 1500 करोड़ राशि 19 लाख खातों पर। 

मुख्यमंत्री ने सामान्य प्रशासन विभाग को अलग से इसके कानून का प्रारूप तैयार करने के निर्देश दिए है। यह कानून मध्यप्रदेश लोकसेवा आयोग व प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड सहित अन्य भर्ती एजेंसियों के माध्यम से होने वाली नियुक्तियों पर लागु होगा। मध्यप्रदेश में उपचुनाव से ठीक पहले इस घोषणा को बड़ा दाव माना जा रहा है। 

प्राप्त जानकारी अनुसार ग्वालियर चम्बल संभाग में पुलिस भर्ती के दौरान अन्य राज्यों के युवाओं के कारण स्थानीय युवाओं को कम मौका मिल पाता है। इसी वजह से भाजपा सरकार ने बड़ा दाव खेला है। 

इसे भी देखें - प्रधान मंत्री आवास योजना नई लिस्ट जारी। 

मात्र चुनावी घोषणा न हो : कमलनाथ - इस घोषणा पर पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि प्रदेश के युवाओं के हक साथ पिछले 15 वर्ष की तरह वर्तमान में भी छलावा न हो। यह आगामी उपचुनाओ को देखते हुए मात्र चुनावी घोषणा बनकर न रह जाये।  अन्यथा कांग्रेस चुप नहीं रहेगी। उन्होंने सवाल किया की पिछले 15 वर्षों में कितने युवाओं को नौकरी दी इसकी जानकारी भी सामने लानी चाहिए। 

इसे भी  देखें - छत्तीसगढ़ के 6 युवा बनेंगे कलेक्टर देखें उनका नाम। 

शिवराज के फैसले को भाजपा ने बताया ऐतिहासिक - सरकारी नौकरी में मध्यप्रदेश के युवाओं के लिए 100 फीसद आरक्षण की मुख्यमंत्री शिवराज सिंह की आरक्षण की घोषणा को भाजपा ने ऐतिहासिक बताया है। प्रदेश अध्यक्ष बीड़ी शर्मा ने कहा की पार्टी इस फैसले का स्वागत करती है। 

अन्य जानकारी नीचे देखें- 


Post a comment

0 Comments