फेसबुक फ्रॉड से ऐसे बचें , बाइक , मोबाइल , फर्नीचर एवं कार बेचने के नाम पर करते है धोखाधड़ी Facebook Fraud Se Aise Bache

 फेसबुक पर विज्ञापन देकर लगाते है लाखों का चुना, सस्ते दाम के चक्कर में झांसे में आ जाते है लोग Facebook Fraud Se Aise Bache 

a2zkhabri.com बिलासपुर - जैसे - जैसे आधुनिक दौर में तकनीक आगे बढ़ रही है वैसे - वैसे सायबर अपराधी भी बहुत तेजी से बढ़ रहे है।  दिन प्रति दिन अपराध के नए - नए मामले सामने देखने को मिल रहे है। आप सभी बैंक फ्रॉड से भली भांति परिचित होंगे, लेकिन अब अपराधियों ने फेसबुक के माध्यम से ठगना प्रारम्भ कर दिए है। आप यदि इस टेक्नोलॉजी के दौर में थोड़ी भी लापरवाही बरतते है तो ठगी का शिकार हो सकते है। 

इसे भी देखें- मोबाइल टावर फ्रॉड से ऐसे बचे। 

फेसबुक पर ठगी - आज कल ठगो का नेटवर्क चल रहा है, वे फेसबुक के माध्यम से बाइक, कार, फर्नीचर , एयर कंडीशनर AC , एलईडी टीवी , वाशिंगमशीन , मोबाइल आदि सस्ते दामों में बेचने के विज्ञापन देते है। लोग उक्त विज्ञापन को देखते ही सस्ते दाम के चक्कर में उनके झांसे में आ जाते है और उनसे संपर्क करने लगते है। 

सस्ते दामों के कारण आते है झांसे में - फेसबुक फ़्रॉडी ज्यादातर सेकंड हेंड सामग्री का विज्ञापन देते है, और ग्राहक फ़साने के लिए दाम बहुत कम रखते है। महंगाई के इस ज़माने में लोग अपनी शौक की पूर्ति या जरुरी सामग्री खरीद नहीं पाते। ये सब बातें ठगो को अच्छे से मालूम है। ज्यादातर लोग जब 1 से डेढ़ लाख के सामग्री का दाम 40 हजार - 50 हजार देखते है तो उन्हें खरीदने के इरादे से दिए गए नंबर पर संपर्क करके उनके झांसे में आकर अपनी मेहनत के कमाई को लुटा देते है। 

इसे भी देखें - सभी के खातों में प्रधान मंत्री सम्मान निधि राशि जारी ऐसे देखें। 

ताजा मामला फेसबुक पर बाइक बेचने का विज्ञापन देकर छात्र से 48 हजार रूपये ठगने का मामला सामने आया है। पीड़ित छात्र की शिकायत पर सरकंडा बिलासपुर पुलिस ने जुर्म दर्ज कर लिया है। मुंगेली जिले के लोरमी क्षेत्र निवासी बिलासपुर में रहकर एमएससी की पढाई कर रहा है। उन्होंने फेसबुक पर दिए गए नंबर पर संपर्क कर बाइक खरीदने की इच्छा जताई। फ़ोन उठाने वाले ने अपने आप को सेना का जवान बताया इससे छात्र का विश्वास बढ़ गया। 

इसे भी देखें- प्रधान मंत्री आवास योजना नई लिस्ट जारी देखें अपने परिवार का नाम। 

छात्र ने हीरो कंपनी की मोटर सायकल 28000 हजार रूपये में तय किया। और पेटीएम के माध्यम से भुगतान कर दिया। इसके बाद मोटर सायकल की डिलीवरी के लिए दूसरे व्यक्ति का संपर्क नंबर दिया उस व्यक्ति ने भी 20000 हजार जमा करने पर ही डिलीवरी होने की बात कहकर उनसे 20 हजार जमा करा लिए। इसके बाद उन्हें बाइक डिलीवरी के लिए घुमाते रहे तब कही छात्र को ठगी का अहसास हुआ और ठाने में शिकायत दर्ज कराया। 

इसे भी देखें - धान खरीदी अंतर राशि जारी 19 लाख खातों में गया पैसा। 

ऑनलाइन के इस दौर में ठगी करने के बहुत से तरीके है कृपया किसी भी प्रकार के मैसेज, ईमेल , फेसबुक पर दिए गए विज्ञापन, लाटरी आदि के फेर में न फसे अपनी मेहनत की कमाई को किसी को लूटने न दे। इस प्रकार का कोई मैसेज करता है तो उनसे न संपर्क करे और न ही दिए गए लिंक को ओपन करें। 

नोट - शासन की योजनाए सहित खास जानकारियों के लिए सर्च करें - a2zkhabri.com 

Post a comment

0 Comments