एक देश एक परीक्षा, सरकारी भर्तियों के लिए अब सिर्फ एक टेस्ट Ek Desh Ek Pariksha , Sarkari Bhartiyon Ke Liye Ek Test

 सरकारी भर्ती प्रक्रिया में सुधार की बड़ी पहल, सरकारी भर्तियों के लिए एक टेस्ट Ek Desh Ek Pariksha , Sarkari Bhartiyon Ke Liye Ek Test 

a2zkhabri.com -  सरकारी भर्ती प्रक्रिया में सुधार की बड़ी पहल करते हुए केंद्रीय केबिनेट ने राष्ट्रिय भर्ती एजेंसी (एनआरए) के गठन को मंजूरी दे दी है। इसके तहत अब ग्रुप बी एवं सी के नॉन टेक्नीकल पदों पर भर्ती के लिए आवेदकों को एक ही ऑनलाइन कॉमन एलिजिबिलिटी टेस्ट देना होगा। इस टेस्ट के आधार पर वे अलग - अलग विभागों में भर्ती के लिए मुख्य परीक्षाओं में शामिल होने के लिए पात्र होंगे। 

इसे भी देखे- मुख्यमंत्री ने जारी किये 1737 करोड़ रुपये 19 लाख खातों पर देखें विवरण। 

केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर और डॉ.जितेन्द्र सिंह ने बताया कि एनआरए के गठन के मंजूरी के साथ ही इसमें फ़िलहाल तीन भर्ती बोर्डों - रेलवे भर्ती बोर्ड, कर्मचारी चयन आयोग और बैंकिंग कर्मचारी चयन संस्थान को शामिल किया गया है। आगे केंद्रीय सेवाओं से जुड़े अन्य भर्ती बोर्डों को भी इससे जोड़ा जायेगा। 

इसे भी देखें- फेसबुक फ्रॉड से ऐसे बचे , लाखों को ठग चुके फ़्रॉडी।  

देश में कई भर्ती बोर्ड - अभी देश भर में केंद्रीय स्तर की 20 भर्ती बोर्ड है। आवेदकों को भटकना न पड़े इसके लिए देश के प्रत्येक जिले में राष्ट्रिय भर्ती बोर्ड का एक एक केंद्र होगा। ज्यादा उम्मीदवारों की संख्या होने पर इन केंद्रों की संख्या एक से ज्यादा भी हो सकती है। इसके तहत देश में पहले चरण पर एक हजार परीक्षा केंद्र खोले जायेंगे। उद्देश्य यह है कि खासकर महिलाओं और दूरदराज के आवेदकों को आसपास ही सुविधा उपलब्ध हो। 

इसे भी देखें - प्रधानमंत्री सम्मान निधि राशि जारी ऐसे जाने विवरण। 

राष्ट्रिय भर्ती एजेंसी की आवश्यकता - अभी सरकारी नौकरियों के लिए अभ्यर्थियों को एक जैसी पात्रता की शर्त होने के बावजूद अलग - अलग भर्ती बोर्ड की परीक्षाओं में शामिल होना पड़ता है। इससे अभ्यर्थियों पर परीक्षा की फीस से लेकर अन्य कई खर्चों का दबाव पड़ता है। कई बार परीक्षा केंद्रों तक आना जाना भी चुनौती होता है। इस व्यवस्था से इन सभी प्रक्रियाओं में आसानी होगी। 

इसे भी देखें - प्रधान मंत्री आवास योजना लाभार्थी सूचि जारी देखें अपने परिवार का नाम। 

कैबिनेट के फैसले - 

1. राष्ट्रिय भर्ती एजेंसी के गठन को केंद्र सरकार ने दी मंजूरी। 

2. हर जिले में होगा परीक्षा केंद्र।  वर्तमान में हजार से ज्यादा खुलेंगे परीक्षा केंद्र। 

3. पहले चरण में रेलवे भर्ती बोर्ड RRB , कर्मचारी चयन आयोग SSC एवं बैंकिंग कर्मचारी चयन संस्थान IBPS को जोड़ा गया। 

4. एजेंसी के लिए 1518 करोड़ का आबंटन तीन  होगा खर्च। 

5. राज्यों के भर्ती बोर्ड एवं निजी क्षेत्रों को भी शामिल करने की योजना। 

सीईटी की अहम् भूमिका - 

1. राष्ट्रिय भर्ती एजेंसी साल में दो बार करेगी सीईटी का आयोजन। 

2. रजिस्ट्रेशन से लेकर परीक्षा एवं मेरिट लिस्ट तक सब ऑनलाइन। 

3. 12 भाषाओं में दिया जायेगा सीईटी में शामिल होने का विकल्प। 

4. 10 वीं, 12 वीं , स्नातक पास आवेदकों के लिए अलग - अलग टेस्ट। 

5. मानक पाठ्यक्रम के आधार पर पूछे जायेंगे बहुविकल्पीय प्रश्न। 

6. सुरक्षा के उच्च मापदंड अपनाये जायेंगे। 

7. अधिकतम उम्र सीमा तक कई बार दे सकेंगे परीक्षा। 

Post a comment

0 Comments