बिग ब्रेकिंग - छात्रों को नहीं मिलेगा जनरल प्रमोशन CG Students Will Not Get General Promotion

शासन के आदेश के खिलाफ प्राइवेट स्कूल प्रबंधन , छात्रों को जनरल प्रमोशन देने से किया इंकार CG Private Schools Students Will Not Get General Promotion 

a2zkhabri.com रायपुर - छत्तीसगढ़ सरकार ने कोरोना संक्रमण के चलते कक्षा 1 से 9 एवं 11 वीं कक्षा को जनरल प्रमोशन देने का आदेश जारी किया है। उक्त आदेश को प्राइवेट स्कूल प्रबंधन मानने से इंकार कर रहा है,और छात्रों को जनरल प्रमोशन देने से प्राइवेट स्कूल मैनेजमेंट एसोसिएशन मना कर रहा है। ज्ञात हो कि पिछले वर्ष भी राज्य सरकार ने सभी लोकल कक्षा के बच्चों को जनरल प्रमोशन दिया था। 

इसे भी देखें - बच्चों की छुट्टी शिक्षकों की नहीं - शिक्षा सचिव। 

निजी स्कूलों के जनरल प्रमोशन के इंकार पर मंत्री श्री रविंद्र ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि शासकीय हो या निजी स्कूल , सरकार का निर्णय को तो मानना ही पड़ेगा। यदि प्राइवेट स्कूलों को किसी भी प्रकार की दिक्कत है तो वे अपनी बात सरकार के समक्ष रख सकते है। सरकार ने सभी लोकल कक्षाओं को बिना परीक्षा लिए अगले क्लास में प्रमोट करने का निर्णय ले लिया है। 

इसे भी देखें - 7th Pay Commission होली से पहले जारी होगा महंगाई भत्ता। 

प्राइवेट स्कूल मैनेजमेंट एसोसिएशन का फैसला - कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए राज्य सरकार ने सभी लोकल कक्षाओं कक्षा 1 से 9 एवं कक्षा 11 वीं को जनरल प्रमोशन अर्थात बिना परीक्षा लिए अगले क्लास में प्रमोट करने का निर्देश जारी किया है। उक्त निर्देश को प्राइवेट स्कूल मैनेजमेंट एसोसिएशन मानने से इंकार कर रहा है और प्रदेश के 2 लाख छात्रों को जनरल प्रमोशन देने से मना कर दिया है।

इसे भी देखें - सहायक शिक्षकों की वेतन विसंगति दूर करने की तैयारी। 

छात्रों को नहीं मिलेगा जनरल प्रमोशन - प्राइवेट स्कूल मैनेजमेंट एसोसिएशन का अड़ियल रुख को देखते हुए छात्रों को जनरल प्रमोशन मिलेगा ऐसा लग नहीं रहा। लेकिन यदि शासन कड़ाई करे तो प्राइवेट स्कूलों को भी उक्त आदेश को मानना ही पड़ेगा। साथ ही एसोसिएशन ने कहा है की फिश जमा नहीं करने वाले छात्रों को जनरल प्रमोट नहीं किया जायेगा। साथ ही ऐसे छात्रों के टीसी देने से भी इंकार कर दिया है जिससे छात्र अन्य स्कूलों में भी प्रवेश से वंचित हो जाये। कई प्राइवेट स्कूल प्रबंधनों ने कोरोना काल में फ़ीस जमा नहीं करने वाले छात्रों की सूचि भी बनाई है। 

इसे भी देखें - सहायक शिक्षकों की मांग जायज -शिक्षा मंत्री , जल्द पूरा करेंगे मांग। 

निजी स्कूलों को मंत्री महोदय का खरी - खरी - माननीय मंत्री श्री रविंद्र चौबे ने प्राइवेट स्कूलों के मैनेजमेंट को इस मुद्दे पर खरी - खोटी सुनाया और कहा कि राज्य शासन का निर्णय मानना ही होगा। मंत्री महोदय ने कोरोना के स्थिति पर भी चिंता व्यक्त करते हुए। वेक्सिनेशन की संख्या को बढ़ाने और कोरोना गाइडलाइन का सख्ती से पालन करने पर जोर दिया। ज्यादा प्रभावित जिलों में सख्ती के साथ मास्क , सेनेटाइजर,फिजिकल डिस्टेंसिंग का उपयोग करने कहा साथ ही कोरोना गाइडलाइन का पालन नहीं करने पर जुर्माना से साथ कार्यवाही करने की भी बात कही। 

Post a comment

0 Comments