पदोन्नति , क्रमोन्नति एवं वेतन विसंगति में सुधार अभी संभव नहीं - मुख्यमंत्री Padonnati , Kramonnati Avm Vetan Visangati Me Sudhaar Abhi Sambhav Nahi

 मुख्यमंत्री का शिक्षक संगठन से चर्चा , कोरोना के कारण आर्थिक स्थिति ठीक नहीं, पदोन्नति , क्रमोन्नति एवं वेतन विसंगति में फिलहाल अभी सुधार संभव नहीं Padonnati , Kramonnati Avm Vetan Visangati Me Sudhaar Abhi Sambhav Nahi 

a2zkhabri.com कोंडागांव - शिक्षकों की प्रमुख मांग क्रमोन्नति, पदोन्नति एवं वेतन विसंगति के सम्बन्ध में मुख्य मंत्री ने चर्चा के दौरान स्पष्ट किया की अभी कोरोना वायरस के कारण आर्थिक स्थिति इतनी सुदृढ़ नहीं है की इन मांगों पर विचार किया जा सके। मुख्य मंत्री माननीय भूपेश के कथन से स्पष्ट है की अभी शिक्षकों की वित्तीय मामले की समस्या फिलहाल दूर होने वाली नहीं है। 

अन्य प्रमुख विभागीय खबर इसे भी अवश्य देखें  - 

फरवरी से खुलेंगे हाई एवं हायर सेकेंडरी स्कूल 

संकुल समन्वयक भर्ती , देखें पद विवरण सहित अन्य जानकारी। 

वार्षिक वेतन वृद्धि जुड़ा या नहीं ऐसे जाने , आसानी से। 

माननीय मुख्यमंत्री दरअसल गणतंत्र दिवस के अवसर पर कोंडागांव प्रवास पर थे। इसी बीच छत्तीसगढ़ टीचर एसोसिएशन के पदाधिकारियों से सम्पूर्ण संविलियन हेतु माननीय मुख्य मंत्री का आभार व्यक्त किया। इसी दौरान शिक्षकों की प्रमुख मांग क्रमोन्नति, पदोन्नति एवं वेतन विसंगति सहित अन्य मुद्दे पर पदाधिकारियों ने अपनी बात रखी। बातों को ध्यान से सुनने के बाद मुख्यमंत्री ने कोविड - 19 के कारण आर्थिक स्थिति का हवाला देते हुए फील हाल इन मांगो को पूरा करने में असमर्थता जता दी। 

सम्पूर्ण संविलियन हेतु सौंपा आयरन क्राप्ट से निर्मित आभार लेख - शिक्षक संगठन ने मुख्यमंत्री का अनोखे अंदाज में सम्पूर्ण संविलियन हेतु आयरन क्राप्ट से निर्मित आभार लेख सौंपा। साथ ही छत्तीसगढ़ टीचर एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने पुष्प वर्षा कर माननीय मुख्यमंत्री का शिक्षाकर्मी प्रथा का अंत करने का आभार माना। 

कोरोना संक्रमण के बाद मांगों पर निर्णय संभव - मुख्य मंत्री के बयान के बाद स्पष्ट हो गया है कि फिलहाल शिक्षकों की प्रमुख मांग क्रमोन्नति, ;पदोन्नति, वेतन विसंगति सहित अन्य मांगों पर निर्णय नहीं लिया जायेगा। लेकिन कुछ समय पश्चात कोरोना वायरस खत्म होती है और प्रदेश की आर्थिक स्थित सुदृढ़ हो जाती है तो अवश्य ही इन मांगों पर विचार किया जायेगा। 

जनघोषणा पत्र में उल्लेख - प्रदेश सरकार ने चुनाव के वक्त सम्पूर्ण संविलियन सहित क्रमोन्नति, पदोन्नति एवं वेतन विसंगति जैसे प्रमुख मांगो को पूरा करने का जनघोषणा पत्र में कहा था। सरकार ने 2 वर्ष के अंदर शिक्षकों की प्रमुख मांग सम्पूर्ण संविलियन को तो पूरा कर दिया है। आने वाले समय में भी बचे हुए मांगों पर सम्भवतः निर्णय हो जायेगा। 

Post a comment

2 Comments

  1. शिक्षा कर्मियों की पदोन्नति क्रमोन्नति वेतनमान विसंगति की समस्या को छत्तीसगढ़ के माटीपुत्र माननीय मुख्यमंत्री जी छत्तीसगढ़ शासन भूपेश बघेल जी जरूर दूर करेंगे। माननीय मुख्यमंत्री भूपेश बघेल दाऊ जी पर पूरा भरोसा है। यह भी निवेदन है की गोठान के लिए कृषकों से पैरा दान में ना लें । बल्कि उसका दाम दें। दाऊजी से निवेदन है। गोमुत्र से फिनायल बनाया जाय। गोठानों को उद्योग के रूप में विकसित किया जाए।

    ReplyDelete
    Replies
    1. ठग दिस, कोरोना के बहाना बनात है, अउ अपन भत्ता ल कैसे बढ़ा लिस।सब विकास कार्य, निर्माण कार्य धड़ाधड़ चलत है, फिर कर्मचारी मन ल ओमन के हक काबर नहीं देत हे

      Delete
Emoji
(y)
:)
:(
hihi
:-)
:D
=D
:-d
;(
;-(
@-)
:P
:o
:>)
(o)
:p
(p)
:-s
(m)
8-)
:-t
:-b
b-(
:-#
=p~
x-)
(k)