सरकार 1 सितम्बर से स्कूल खोलने तैयार, इधर 97000 बच्चे कोरोना पॉजिटिव , क्या छ.ग. सहित देश में स्कूल खुलने चाहिए ..? CG School Reopening NCERT Drapt

 कोरोना संक्रमण के चरम पर क्या स्कूल खुलने चाहिए , 1 सितम्बर से स्कूल खोलने हेतु गाइडलाइन जारी , इधर 97000 बच्चे कोरोना पॉजिटिव  CG School Reopening NCERT Drapt 

CG School Reopening NCERT Drapt - इस समय प्रदेश सहित देश में कोरोना चरम पर है। देश में पिछले कई माह से स्कूल कालेज बंद है। कोरोना ने देश सहित प्रदेश को भी अपने चपेट में ले लिया है। प्रदेश में जहाँ 100 से अधिक लोगो की मृत्यु हो गयी है वही देशभर में मृतकों की संख्या 50 हजार के करीब है। 

इसे भी देखें - 

प्रधानमंत्री सम्मान निधि की राशि सभी के खातों में जारी। 

1 सितम्बर से स्कूल खोलने पर विचार - कोरोना वायरस और लॉकडाउन के कारण बीते 6 महीने से बंद स्कूल को सरकार फिर से खोलने की तैयारी कर रही है। सरकार ने 1 सितंबर से स्कूल खोलने को लेकर काम शुरू कर दिया है।  वहीं अमेरिका में स्कूल खोलने से पहले एक रिपोर्ट जारी हुआ है, जिसमें कहा गया है कि देश में तकरीबन 97000 बच्चे कोरोना से संक्रमित हुए हैं, ऐसे में भारत में स्कूल खोलने के फैसले पर सवालिया निशान उठ गया है। 

इसे भी देखें - 

प्रधानमंत्री आवास योजना नई सूचि जारी आसानी से देखें अपना नाम। 

अमेरिका स्थित अमेरिकन अकेडमी ऑफ पीडीऐट्रिक्स ने एक रिपोर्ट जारी की है। रिपोर्ट के अनुसार अब तक अमेरिका में 97000 बच्चे कोरोना से संक्रमित पाए गए हैं।  रिपोर्ट के बाद अमेरिका में स्कूल खोलने वाला प्रस्ताव अभी रोक दिया गया है, वहीं भारत में भी स्कूली बच्चों को लेकर सर्वे कार्य किया जा सकता है। 

शिक्षा मंत्रालय की प्लानिंग - शिक्षा मंत्रालय स्कूल खोलने को लेकर तैयारी कर रही है,  मंत्रालय सीनियर छात्रों को दो शिफ्ट में स्कूल बुलाने पर विचार कर रही है। बताया जा रहा है कि कक्षा 5 से ऊपर के बच्चों को ही स्कूल बुलाया जा सकता है, हालांकि स्कूल कब खुलेगी? इसको लेकर कोई तिथि तय नहीं है। 

इसे भी देखें - 

छत्तीसगढ़ के 6 युवा बनेंगे कलेक्टर देखें उनका नाम। 

NCERT ने सरकार को सौंपा ड्राप्ट- प्राप्त जानकारी अनुसार स्कूल की Reopening हेतु NCERT से सरकार को ड्राप्ट सौंपा है जिसमे स्कूल को खोलने हेतु 6 चरण निर्धारित किये गए है। 

ड्राप्ट के अनुसार - 

1. पहले चरण में 11 वीं एवं 12 वीं के बच्चों को बुलाया जायेगा। 

2. इसके एक हप्ते बाद नवमीं एवं बारहवीं की पढ़ाई की शुरुआत की जाएगी। 

इसे भी देखें - 

महाविद्यालयीन परीक्षा 3 से 30 सितम्बर तक। 

3. तीसरे चरण में 3 सप्ताह बाद मिडिल स्कूल 6 से 8 वीं तक के बच्चों की कक्षाएं प्रारम्भ की जाएगी की जाएगी।

4. चौथे चरण में तीसरी से 5 वीं तक के बच्चों को स्कूल बुलाया जायेगा। 

5. पांचवा चरण में 1 ली एवं 2 री की कक्षाओं को ओपन किया जायेगा। 

6. छठवा एवं अंतिम चरण में अभिभावकों के अनुमति के बाद नर्सरी एवं केजी के बच्चों की क्लास लगाई जाएगी।

स्कूल खुलने के सन्दर्भ में आपका क्या है अभिमत - कोरोना संक्रमण के चरम सीमा पर ज्यादातर पालकों ने स्कूल खोलने के पक्ष में नहीं है। वैसे भी इस जानलेवा बीमारी के बाद अपनी पढाई की पूर्ति अगले कुछ महीने में कर सकते है ,लेकिन कोरोना का संक्रमण फ़ैल गया तो जान का खतरा होगा। इस लिए हम भी जब तक कोरोना पूर्णतः जब तक समाप्त नई हो जाता अथवा जब तक वेक्सीन नहीं आ जाता तब तक स्कूल खोलने के पक्षधर नहीं है।   

स्कूल खुलने की तिथि तय नहीं - प्राप्त सुचना अनुसार अभी सरकार 1 सितम्बर से स्कूल खोलने को सोच रही है लेकिन यह तिथि फिक्स नहीं है। पालकों एवं अन्य संगठनों से विचार विमर्श के बाद ही सरकार फैसला ले सकती है। जिस प्रकार से कोरोना के मामले बढ़ रहे है उससे अभी सरकार स्कूल खोलने की जल्दबाजी नहीं करेगी ऐसा लग रहा है। 

Post a comment

1 Comments

  1. जब तक छत्तीसगढ़ में जीरो ( 0 ) कोरोना पाजेटिव न हो तब तक विद्यालय न खुले।

    ReplyDelete
Emoji
(y)
:)
:(
hihi
:-)
:D
=D
:-d
;(
;-(
@-)
:P
:o
:>)
(o)
:p
(p)
:-s
(m)
8-)
:-t
:-b
b-(
:-#
=p~
x-)
(k)