सुकन्या समृद्धि योजना सहित अन्य स्कीमों पर सरकार ने घटाया ब्याज दर Government Reduced Intrest Rate On Other Schemes Including Sukanya Samriddhi Yojna

सरकार ने छोटी बचत पर डाला डाका , छोटी बचत पर अब लगेगी बड़ी चपत Government Reduced Intrest Rate On Other Schemes Including Sukanya Samriddhi Yojna 

a2zkhabri.com - बढ़ती महंगाई के दौर में छोटी बचत स्कीमों में पैसा रखने वाले लोगो को बड़ी चपत लगी है। सरकार ने अमूमन सभी तरह की छोटी बचत स्कीमों पर ब्याज दरों को घटा दिया है। ब्याज दरों में 0.5 फीसदी से 1.1 फीसदी तक की कमी की गई है। घटी दरें 01 अप्रैल 2021 से लागु हो जाएगी। सरकार ने सुकन्या समृद्धि योजना से लेकर  किसान विकास पत्र योजना पर चाबुक चलाया है। 

इसे भी देखें - छत्तीसगढ़ ओपन स्कूल परीक्षा , 6 तक करें आवेदन, घर बैठे होगा एग्जाम। 

माध्यम वर्गीय परिवार को तगड़ा झटका - बढ़ती महंगाई के इस जमाने में मध्यम वर्ग परिवार खर्चे में कटौती करके बड़ी मुश्किल से किसी छोटी स्कीम में पैसा लगाते है , ताकि भविष्य में कुछ सहारा मिल सके , लेकिन सरकार ने बड़े स्कीमों को छोड़कर केवल सुकन्या समृद्धि, किसान विकास पत्र सहित लगभग छोटी बचत स्कीमों पर सालाना ब्याज दर पर 0.5 फीसदी से 1.1 फीसदी की कटौती कर दी है। जिससे उक्त योजनाओं में पैसा जमा करने वाले अभ्यर्थियों को तगड़ा झटका लगा है। 

इसे भी पढ़ें - सरकारी कर्मचारियों को जुलाई से मिलेगा सभी बकाया डीए , देखें विवरण। 

वित्त मंत्रालय की तरफ से जारी नोटिस के मुताबिक बचत स्कीमों पर बैंक अब चार के बजाय 3.5 फीसदी सालाना का ब्याज देगी। बैंक इसकी मांग कर रहे थे। एक साल की सावधि जमा पर देय ब्याज की दर 5.5 फीसदी से घटाकर 4.4 फीसद, दो वर्ष पर 5.5 से घटाकर 5 फीसद , तीन साल के लिए 5.5 फीसद से घटाकर 5.1 फीसद , 5 वर्ष की सावधि जमा पर 6.7 फीसद से घटाकर 5.8 फीसदी कर दिया है। 

इसे भी देखें- छत्तीसगढ़ में कोरोना का कहर 20 जिलों में कर्फ्यू , एक दिन में रेकार्ड तोड़ मौत। 

इसी प्रकार 5 वर्ष की रिकरिंग जमा योजना पर देय व्याज की दर 5.8 फीसदी से घटाकर 5.3 फीसदी कर दी गई है। इन स्कीमों पर ब्याज की गणना तिमाही स्तर पर होती है। वरिष्ठ नागरिकों के लिए बचत स्कीमों पर देय ब्याज 7.4 फीसदी से घटाकर 6.5 फीसदी , मासिक आय योजनाओं पर 6.6 फीसद की जगह 5.7 फीसद , राष्ट्रिय बचत प्रपत्र के लिए 6.8 फीसद की जगह 5.9 फीसद , पब्लिक प्रोविडेंट फंड स्कीम के तहत 7.1 फीसदी से घटाकर 6.4 फीसदी कर दी गई है। 

इसे भी देखें- ब्रेकिंग 3692 पदों में पुनः होगी रेगुलर शिक्षक, ग्रंथपाल, अधीक्षक भर्ती। 

किसान विकास पत्र पर अब 6.2 फीसद की ब्याज दी जाएगी। पहले इस स्कीम पर 6.9 फीसद ब्याज थी। इस स्किम पर पहले जमा धन 124 महिनो में दोगुना होता था , जो अब 138 महीनों में दोगुना होगा। सुकन्या समृद्धि अकाउंट स्किम के तहत देय ब्याज की दर अब 6.9 फीसदी होगी जो 7.6 फीसदी होती थी। 

Post a comment

0 Comments