घूंस नहीं देने पर रोके जा रहे शिक्षाकर्मियों के कई आदेश , 50 प्रतिशत की घूंस मंगाते बाबू का ऑडियो वायरल Audio Of Babu Seeking Bribe From Shikshakarmi Goes Viral

 शिक्षा विभाग के बाबू के निशाने पर शिक्षाकर्मी आदेश , एरियस आदि जारी करने मांग रहे 50 प्रतिशत तक की घूंस Audio Of Babu Seeking Bribe From Shikshakarmi Goes Viral 


a2zkhabri.com कवर्धा - प्रदेश में शिक्षाकर्मियों को लगातार परेशान करने का खेल जारी है और यह खेल उन्ही के विभाग के अधिकारी कर्मचारी खेल रहे है। खेल इतना बड़ा है कि जायज हिस्से के 50 प्रतिशत राशि की मांग की जा रही है। और जो शिक्षाकर्मी शिकायत करने की हिम्मत नहीं जुटा पा रहे है वे अपने मेहनत के आधे रकम को देने विवश हो रहे है। 

इसे भी अवश्य देखें - अब व्हाट्सएप से भी भेज सकेंगे पैसा , देखें स्टेप बाय स्टेप जानकारी। 

वही कई शिक्षाकर्मी ऐसे है जिनका जमीर इस अन्याय को बर्दास्त नहीं कर पा रहा है वे अपने संगठन के शरण में पहुँच रहे है। वह तो शिक्षाकर्मी संगठन सक्रीय है जो अपने साथियों के साथ अन्याय होता देख किसी से भी भिड़ने तैयार रहते है। यदि शिक्षाकर्मी संगठन सक्रीय न हो तो और भयानक स्थिति देखने को मिलती। 

आधा हिस्सा मंगाते हुए नगर पंचायत बोड़ला के बाबू के ऑडियो हुआ वायरल - संविलियन अधिकार मंच के प्रदेश अध्यक्ष विवेक दुबे ने बताया कि जिला कवर्धा के बोड़ला नगर पंचायत के एक लिपिक का ऑडियो वायरल हुआ है जिसमे वह 50 प्रतिशत की राशि मांगना स्वीकार कर रहे है।

इसे भी देखें - 1998 से कार्यरत शिक्षाकर्मियों को मिल सकती है पूरानी पेंशन ,देखें आदेश।  

इसकी शिकायत अब राज्य स्तर पर हो गयी है। इस मामले के सन्दर्भ में ज्ञात हो की नगर पंचायत बोड़ला के लिपिक सुभाष कुम्भकार ने वहां पदस्थ शिक्षकों एवं शिक्षिकाओं से नियमितीकरण , एरियस सहित विभिन्न जायज मांगों के एवज में 50 प्रतिशत राशि की सीधी मांग कर डाली उक्त बातचीत का ऑडियो पुरे प्रदेश में काफी वायरल हो रहा है। 

इसे भी देखें - बिलासपुर यूनिवर्सिटी ने जारी किये आज कई परीक्षा परिणाम देखें रिजल्ट। 

जानबूझकर किया जा रहा परेशान - शिक्षाकर्मियों को समय पर नियमितीकरण ,समयमान वेतनमान,पुनरीक्षित वेतनमान का आदेश जारी होना चाहिए। लेकिन विभाग के बाबू जानबूझकर उक्त सभी लाभों को समय पर नहीं देते और समय बिट जाने पर एरियस के रूप में राशि भुगतान करने के लिए आधे पैसे की मांग करते है। उक्त मामला संविलियन अधिकार मंच के प्रदेश अध्यक्ष के पास पहुंचा उन्होंने सम्बंधित बाबू से भी बातचीत किया और राज्य स्तर पर भी शिकायत किये।

इसे भी देखें - छत्तीसगढ़ 2259 पदों पर आरक्षक भर्ती जारी।  

भ्रष्टाचार पर नहीं लग रहा अंकुश - सत्ता परिवर्तन के बाद इस बात की उम्मीद की जा रही थी कि इस प्रकार से शासकीय कार्यालयों में हो रहे घामलेबाज पर अंकुश लगेगी लेकिन दुर्भाग्य की बात है की अभी भी शासन प्रशासन इस और ध्यान नहीं दे रहे है। राज्य के छोटे कार्यालय से लेकर बड़े कार्यालयों में भी इस प्रकार की घटना आये दिन घटती रहती है। 

Post a comment

0 Comments