छ. ग. 51 हजार शिक्षकों के पदों में और होगी भर्ती, राष्ट्रिय शिक्षा नीति के तहत अनिवार्य CG 51 Thousands Teachers Bharti 2020

 राष्ट्रीय शिक्षा नीति के लिए छत्त्तीसगढ़ को भरने होंगे शिक्षकों के 51 हजार पद CG 51 Thousands Teachers Recruitment  2020 , यहाँ देखें राज्य वार शिक्षकों के खाली पद। 


CG 51 Thousand Teachers Bharti 2020 - राष्ट्रिय शिक्षा नीति के अमल में जुटे राज्यों को सरकारी स्कूलों में शिक्षकों के खाली पड़े पदों को भी अब भरना होगा। इसके तहत छत्तीसगढ़ को 51 हजार से अधिक शिक्षकों के खाली पदों को भरना होगा। राष्ट्रिय शिक्षा नीति के तहत उक्त पदों को यदि तत्काल भरा जाता है तो बेरोजगारों को कुछ राहत अवश्य मिलेगी। 

इसे भी देखें- 1998 बैच के शिक्षाकर्मियों को मिलेगी पुरानी पेंशन, आदेश, नोटिस जारी। 

नीति के क्रियान्वयन योजना के शुरुआत में ही इस लक्ष्य को हासिल करने की सिफारिश की गयी है। हालाँकि राज्यों के लिए यह कठिन लक्ष्य है। बावजूत इसके नीति क्रमबद्ध शिक्षकों के खाली पदों को भरने का जोरदिया गया है। राष्ट्रिय शिक्षा नीति को तेजी से आगे बढ़ाने में जुटा शिक्षा मंत्रालय भी इस पर पूरी नजरे लगाए हुए है। 

देश में 10 लाख पद खाली - फिलहाल शिक्षा नीति के तहत राज्यों से शिक्षकों के खाली पदों का ब्योरा मंगाया जा रहा है। प्राप्त जानकारी अनुसार कई बड़े राज्यों में एक लाख के करीब पद खाली है। ऐसी ही स्थिति मध्यप्रदेश , छत्त्तीसगढ़, झारखण्ड, बंगाल , आंध्र प्रदेश, बंगाल, राजस्थान सहित अनेक राज्यों में हजारों पद खाली पड़े है। 

इसे भी देखें- बिलासपुर यूनिवर्सिटी सभी कक्षा सभी विषय प्रश्न पत्र यहाँ डाउनलोड करें। 

प्रमुख राज्य और शिक्षकों के खाली पद - कुछ प्रमुख राज्यों में निम्नानुसार पद खाली है - 

छत्तीसगढ़ - 51 हजार से ज्यादा 

मध्य प्रदेश  - 91 हजार से ज्यादा 

झारखण्ड - 95 हजार से ज्यादा 

पश्चिम बंगाल - 72 हजार से ज्यादा 

राजस्थान - 47 हजार से ज्यादा 

इसे भी पढ़ें - छत्तीसगढ़ अभी नहीं खुलेंगे स्कूल, आदेश जारी।

 

आँध्रप्रदेश - 34 हजार से ज्यादा 

उत्तराखंड - 18 हजार से ज्यादा 

ख़ास बात यह है कि हाल ही  राष्ट्रिय शिक्षा नीति में स्कूलों में शिक्षकों के खाली पड़े पदों को लेकर चिंता जताई गयी है।  इसके क्रियान्वयन की जो रुपरेखा तैयार की गयी है उसके मुताबिक प्रत्येक 30 छात्र पर एक शिक्षक का होना जरुरी है। वही सामाजिक आर्थिक रूप से वंचित बच्चों की अधिकता वाले क्षेत्रों में प्रत्येक 25 बच्चों पर एक शिक्षक रखने कहा गया है। 

इसे भी पढ़ें - कक्षा 10 वीं, 12 वीं रिजल्ट जारी , यहाँ से देखें रिजल्ट। 

शिक्षा मंत्रालय भी नीति के अमल ले पहले दौर में ही राज्यों से शिक्षकों की कमी को ख़त्म करने को लेकर बातचीत करने तैयारी में है। राष्ट्रिय शिक्षा नीति के तहत देश भर में लगभग 10 लाख शिक्षकों के पद खाली है। खाली पदों के  सबसे ज्यादा मामले उत्तर प्रदेश एवं बिहार है। शिक्षा नीति के शुरुआती दौर में इन पदों को भरने की सिफारिश की जा रही है। 

बेरोजारी होगी दूर - प्रदेश सहित देश भर में बेरोजगारी की समस्या चरम पर है। यदि इन पदों पर तत्काल भर्ती की जाये तो शिक्षा विभाग में जाने के इच्छुक एवं योग्यताधारी बेरोजगार अभ्यर्थियों को राहत अवश्य मिलेगी। 

अन्य प्रमुख खबर - 

10 वीं , 12 वीं वार्षिक परीक्षा फार्म भरने की अंतिम तिथि 15 अक्टूबर , जल्द भरे आवेदन। 

Post a comment

0 Comments