देश के प्रख्यात शायर राहत इंदौरी नहीं रहे, Raahat Indauri Nahi Rahe

 देश के प्रसिद्द शायर डॉ. राहत इंदौरी "जमींदार" हो गए, इंदौर में ली अंतिम साँस, दिल के 3 दौरे पड़े Raahat Indauri Jamidaar Ho Gaye 

Raahat Indauri Nahi Rahe इंदौर - देश के प्रसिद्द शायर डॉ. राहत इंदौरी का इंदौर में मंगलवार शाम 4 बजे दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया। अंतिम सांस लेने के बाद वे अब जमींदार हो गए है। दरअसल शायरी के लम्बे दौर में कभी उन्होंने कहा था - 

कश्ती तेरा नशीब चमकदार कर दिया ,

              इस पार के थपेड़े ने उस पास कर दिया। 

दो गज सही ये मेरी मिल्कियत तो है,

             ये मौत तूने मुझे जमींदार कर दिया। 

इसे भी देखें- 

मोदी ने जारी किये सभी के खातों में 2 - 2 हजार रूपये। 

इस शेर में उनका जमींदार होने से आशय था की जिस जमीन में उन्हें दफनाया जायेगा , वह भले ही दो गज की हो मगर हमेशा के लिए उनकी मिल्कियत (संपत्ति) हो जाएगी। उनके निधन के बाद ये शेर उनके प्रशंसकों के जुबान पर है। रात करीब साढ़े दस बजे उन्हें सुपुर्दे खाक किया गया। 

इन्हे भी देखें- 

महाविद्यालयीन परीक्षा होगी 3 से 30 सितम्बर तक। 

डॉ. राहत इंदौरी की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आयी थी। इसके बाद उन्हें निजी अस्पताल में भर्ती किया गया था। कोरोना से संक्रमित होने की जानकारी राहत ने खुद ट्वीट करके दी थी। बताया जाता है की डॉ. राहत इंदौरी की तबियत कुछ दिन से ख़राब चल रही थी। जिस कारण से एक निजी अस्पताल में इलाज चल रहा था। 

इसे भी देखें- 

स्कूल खुलेगी बहुत जल्द आदेश हुआ जारी। 

कोरोना परिक्षण के बाद उनका रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद सोमवार को रेड श्रेणी के अस्पताल में भर्ती कराया गया था। इलाज कर रहे डॉ.रवि दोशी के अनुसार संक्रमण का असर उनके फेफड़े में था और किडनी में सूजन था। जिस कारण से उन्हें साँस लेने में तकलीफ थी। 

इसे भी देखें- 

मोबाइल टावर फ्रॉड से ऐसे बचे बन चुके है लाखों व्यक्ति शिकार। 

कोरोना से जूझ रहे राहत के दिल ने उनका साथ छोड़ दिया। दोपहर 1 बजे उन्हें दिल का पहला दौरा पड़ा इसके बाद 2 दौरे और पड़े इसके बाद शाम 4 बजे उनका निधन हो गया। डॉ. राहत इंदौरी के निधन पर रक्षामंत्री राजनाथ सिंह, राहुलगांधी, शिवराज सिंह चौहान,अनसुइया उइके एवं छत्तीसगढ़ मुख्यमंत्री भूपेश सहित देशभर से जानी मानी हस्तियों ने शोक संवेदनाये ब्यक्त की। 

Post a comment

0 Comments