अंग्रेजी से भाग रहे अंग्रेजी के शिक्षक CG Govt. English Midium School

अंग्रेजी से भाग रहे अंग्रेजी के शिक्षक, अंग्रेजी विद्यालय में पदस्थ किये गए शिक्षकों ने जताई असहमति English Teachers Fleeing English 

रायपुर - छत्तीसगढ़ में पहली बार खुलने जा रहे 40 उत्कृष्ट अंग्रेजी माध्यम विद्यालयों में सरकारी स्कूल के अंग्रेजी शिक्षक नयुक्ति के बाद अपना हाँथ खींच रहे है। बीते दिनों 494 शिक्षकों की पदस्थापना/ स्थानांतरण अंग्रेजी माध्यम के स्कूलों में किया गया है। 


बताया जाता है की अंग्रेजी माध्यम के स्कूल शत प्रतिशत अनुदान प्राप्त होंगे , निजी समिति के माध्यम से संचालित होने के कारण बहुत से शिक्षक इन स्कूलों में नहीं आना चाहते। प्राप्त जानकारी के अनुसार कुछ शिक्षक अंग्रेजी मीडियम में पढ़ाना नहीं चाहते। अतः ऐसे शिक्षकों को जबरदस्ती पढ़ाने के लिए मजबूर भी नहीं किया जा सकता। 


स्कूल शिक्षा विभाग ने अंग्रेजी माध्यम से पढ़े एवं अंग्रेजी में एमए करने वाले शिक्षकों को इन स्कूलों में पदस्थ किया था। पदस्थापना के बाद सरकारी स्कूलों के 494 शिक्षकों में से 43 शिक्षकों ने इन स्कूलों में जाने से असहमति जताई है। यहाँ तक की लैब तकनीशियन भी जाने से इंकार कर रहे है। 


रायपुर के 79 में से 34 शिक्षकों ने दी सहमति - राजधानी रायपुर के 3 स्कूलों को अंग्रेजी माध्यम में विकसित किया जा रहा है। रायपुर में आरडी तिवारी स्कूल आमापारा, बीपी पुजारी स्कूल राजा तालाब और शहीद स्मारक स्कूल फाफाडीह शामिल है। उक्त तीनो स्कूलों के लिए छत्तीसगढ़ स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा 79 शिक्षकों की पदस्थापना की गयी थी जिनमे से केवल 34 शिक्षकों ने अभी तक सहमति जताई है। 

समिति करेगी संचालित - प्रदेश में संचालित होने वाली सभी 40 उत्कृष्ट अंग्रेजी माध्यम के स्कूलों को कलेक्टर की अध्यक्षता वाली समिति चलाएगी। इस समिति के जिला शिक्षा अधिकारी सचिव होंगे , वही स्कूल के प्राचार्य सहित अन्य विभाग के अधिकारी सदस्य होंगे।


संविदा , अतिथि शिक्षकों की नियुक्ति हेतु जारी हुआ विज्ञापन - सरकारी स्कूलों के शिक्षकों का अंग्रेजी माध्यम के स्कूलों के प्रति रूचि नहीं होने के कारण अब इन स्कूलों में संविदा शिक्षक या स्थानीय स्तर पर कलेक्टर के जरिये निजी शिक्षकों की नियुक्ति की तैयारी चल रही है। कई जिलों में संविदा शिक्षक भर्ती हेतु विज्ञापन भी जारी हो चुके है। 

राज्य में शिक्षक भर्ती प्रक्रियाधीन - राज्य में अंग्रेजी के 410 व्याख्याता, और 2000 अंग्रेजी माध्यम के शिक्षकों की भर्ती प्रक्रिया पिछले डेढ़ साल से प्रक्रिया धीन है।  व्यापम ने परीक्षा लेकर सूचि स्कूल शिक्षा विभाग को सौंप चुकी है। ज्यादातर अभ्यूअर्थीयों के प्रमाण पत्रों की जाँच भी हो चुकी है। लेकिन अभी तक नियुक्ति नहीं हो पायी है। 


शिक्षा विभाग के प्रमुख सचिव ने बताया की 40 उत्कृष्ट विद्यालयों में सारे शिक्षक बेहतर हो यह हमारा प्रयास है। ऐसे में हम अंग्रेजी के शिक्षकों को जबरन नहीं कहेंगे की वे पढ़ाएं। कलेक्टर को छूट है की वे अपने स्तर पर शिक्षकों की नियुक्ति करें। 


Post a comment

0 Comments