बिलासपुर जिले में भी स्कूली बच्चे कोरोना संक्रमित, बंद कराया गया स्कूल Bilaspur Jile Me Bhi Schooli Bachche Corona Pojitive

 हाई स्कूल की छात्राओं का कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव , स्कूल कराया गया बंद CG School Corona Update 2021 

a2zkhabri.com बिलासपुर - तखतपुर ब्लॉक के पाली हाई स्कूल की तीन छात्राएं बुधवार को कोरोना संक्रमित पाई गई। जिले में स्कूल में संक्रमण का यह पहला मामला आते ही जिला प्रशासन के साथ ही शिक्षा विभाग और स्वास्थ्य विभाग के अधिकारीयों में हड़कंप मच गया है। तीन छात्राओं को होम आइसोलेट करते हुए स्कूल को तत्काल बंद करा दिया गया है। 

इसे भी देखें - स्कूल होंगे अब बंद , कोरोना के बढ़ रहे मामले। 

राज्य शासन के निर्देशानुसार 15 फरवरी से पुरे प्रदेश के हाई एवं हायर सेकेंडरी स्कूलों को खोला गया है। स्कूल खुलते ही प्रदेश के चार स्कूलों में अब तक कोरोना पॉजिटिव बच्चे की पहचान किया जा चूका है। स्कूली बच्चों के लगातार कोरोना संक्रमित होने की आशंका बनी हुई है। स्कूल शिक्षा विभाग के निर्देश अनुसार कोरोना गाइडलाइन का पालन कराया जा रहा है। 

इसे भी देखें - 250 पदों में पटवारी की बम्पर भर्ती। 

बच्चों को कोरोना संक्रमण से बचाने के लिए स्वास्थ्य विभाग भी लगातार स्कूलों  स्वास्थ्य परिक्षण कर रहे है। स्वास्थ्य परिक्षण के क्रम में दो दिन पहले तखतपुर ब्लॉक पाली हाई स्कूल  बच्चों के सेम्पल लिए गए थे। लिए गए सेम्पल में तीन छात्राओं के कोरोना पॉजिटिव की पुष्टि हो चुकी है। उक्त छात्र कक्षा नवमी एवं 10 वीं कक्षा के छात्र है। 

इसे भी देखें - GP एप में बच्चों का असेसमेंट ऐसे करें। 

कोरोना के सम्बन्ध में जैसे ही स्कूल शिक्षा विभाग के अधिकारीयों को पता चला तो तत्काल स्कूल को 15 दिनों के लिए बंद कर दिया गया है। साथ ही संक्रमित छात्रों के संपर्क में आने वाले अन्य छात्र - छात्राओं एवं स्कूल स्टाफ एवं उनके परिवार वालों की सूचि स्वास्थ्य विभाग को सौप दिया गया है ताकी सभी की कोरोना जाँच हो सके। कोरोना के मामले यदि लगातार बढ़ते रहे तो बहुत जल्द स्कूल बंद हो सकती है। 

इसे भी पढ़ें - शिक्षकों को मिलेगी पुरानी पेंशन , हाई कोर्ट का निर्देश जारी। 

 स्कूल प्रबंधन को दिए गए ये निर्देश - 

1. सर्दी , बुखार से पीड़ित छात्र स्कूल न आएं , तत्काल जाँच करवाए। 

2. शारीरिक दुरी का पालन करवाएं। 

3. सभी बच्चे अनिवार्य रूप से मास्क लगाएं। 

4. स्कूलों में सेनेटाइजर, हैंडवाश और साबुन की व्यवस्था होनी चाहिए , और हर आधे घंटे  बच्चों का हाँथ धुलवाएं। 

5. हर दिन सभी बच्चों की थर्मल स्क्रीनिंग की जाय। 

6. सर्दी बुखार  में बच्चे मिले तो तत्काल घर भेजा जाय। 

7. किसी भी प्रकार की शारीरिक समस्या होने पर तत्काल स्वास्थ्य विभाग को सूचित किया जाए। 

Post a comment

0 Comments