नीट और जेईई सितम्बर में ही , परीक्षा तिथि घोषित NEET , JEE , Exam 2020 Time Table

 नीट ,जेईई एवं जेईई एडवांस की परीक्षा सितम्बर में ही आयोजित होगी , सुप्रीम कोर्ट ने परीक्षा टालने की मांग ख़ारिज की NEET , JEE , JEE Advance Main Exam 2020 

NEET , JEE Main 2020 - मेडिकल प्रवेश परीक्षा नीट एवं इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा जेईई मेन सितम्बर में तय शेड्यूल के मुताबिक होगी। सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को नीट और जेईई मेन की मुख्य परीक्षा स्थगित करने वाली याचिका को ख़ारिज कर दी। और परीक्षा आयोजत करने वाली संस्था से परीक्षा तिथि घोषित भी कर दी है। 

इसे भी देखें- स्कूल खुलेगी 1 सितम्बर से आदेश जारी। 

सुप्रीम कोर्ट ने कोरोना महामारी के चलते मेडिकल पाठ्यक्रम में प्रवेश के लिए राष्ट्रिय पात्रता व प्रवेश परीक्षा (नीट) और इंजीनियरिंग में प्रवेश के लिए होने वाली संयुक्त प्रवेश परीक्षा (जेईई) टालने की मांग ख़ारिज कर दी। नीट और जेईई का आयोजन सितम्बर में होना है। परीक्षाओं का आयोजन नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) करेगी। 

कोरोना को देखते हुए एनटीए पहले ही कई बार परीक्षा की तिथि आगे बढ़ा चुकी है। पहले ये परीक्षाएं जून में ही आयोजित होने वाली थी जो बढ़ते - बढ़ते अब सितम्बर में प्रस्तावित है। प्राप्त जानकारी अनुसार सरकार सितम्बर से ही स्कूलों को चरणबद्ध खोलने की तैयारी कर रही है। इस लिहाज से सुप्रीम कोर्ट की टिप्पड़ी को भी अहम् माना जा रहा है। 

इसे भी पढ़ें- प्रधानमंत्री सम्मान निधि राशि सभी के खातों में जारी। 

एनटीए द्वारा जारी परीक्षा तिथि - परीक्षा आयोजित कराने वाली संस्था NTA  नेशनल टेस्टिंग एजेंसी ने परीक्षा तिथि घोषित की है जारी परीक्षा तिथि अनुसार - 

       जेईई मेन- 01 से 06 सितम्बर 2020 

       नीट - 13 सितम्बर 2020 

       जेईई एडवांस - 27 सितम्बर 2020 

इसे भी पढ़े- प्रदेश में आवास योजना के तहत बनेंगे 1 लाख 57 हजार मकान देखें अपने परिवार का नाम। 

स्कूली पाठ्यक्रम में होंगे अहम् बदलाव - नई शिक्षा निति के बाद अब सभी की निगाहें स्कूली पाठ्यक्रमों में होने वाले बदलायों को लेकर है। हर कोई इसको लेकर उत्सुक है कि इतिहास, राजनीती शास्त्र, कला एवं संस्कृति जैसे विषयों में क्या हटेगा और क्या जुड़ेगा। नए बदलाव के तहत पाठ्यक्रम 30 से 40 फीसदी तक कम हो जायेगा। याने बास्ते का बोझ कम होगा। 

इसे भी देखें- छत्तीसगढ़ के 6 युवा बनेंगे कलेक्टर देखें उनका नाम। 

नई शिक्षा नीति के अमल का जो सूत्रवाक्य तय किया है , वह नेशन फस्ट - करेक्टर मस्ट है। यानी नई पीढ़ी को अब जो भी पढ़ाया जायेगा, उसमे राष्ट्रिय हीत के साथ चरित्र निर्माण पर फोकस रहेगा। स्कूलों के लिए पाठ्यक्रम तैयार करने का जिम्मा राष्ट्रिय शैक्षिक अनुसन्धान एवं प्रशिक्षण परिषद् एनसीईआरटी के पास है। 

नोट - सभी महत्वपूर्ण जानकारी के लिए सर्च करें - a2zkhabri.com 

Post a comment

0 Comments