PM किसान निधि - छ.ग. में भी अपात्र किसानों की जाँच शुरू , एक ही जिले में 7200 अपात्र Investigation Of Ineligible Farmers Started In PM Kisan Nidhi CG

गलत तरीके से पीएम किसान निधि का लाभ ले रहे किसानों की छत्तीसगढ़ में जाँच शुरू , एक ही जिले में 7200 अपात्र किसान Investigation Of Ineligible Farmers Started In PM Kisan Nidhi CG

a2zkhabri.com रायपुर - फर्जी जानकारी के सहारे प्रधान मंत्री किसान सम्मान निधि योजना का लाभ ले रहे ऐसे अपात्र किसानों की अब खैर नहीं। देश भर में अलग - अलग राज्यों में जारी जाँच के बीच अब छत्तीसगढ़ में भी अपात्र किसानों की जाँच शुरू हो गई है। प्राप्त सुचना अनुसार छत्तीसगढ़ के सिर्फ एक ही एक ही जिले में 7200 अपात्र किसानो की पहचान किया जा चूका है। अब उन किसानों से वसूली सहित वैधानिक कार्यवाही की तैयारी चल रही है।जाँच के बाद अपात्र किसानों में हड़कंप मचा है। 

बिग ब्रेकिंग - CG मुख्यमंत्री का बड़ा ऐलान सूखा प्रभावित किसानों को मिलेंगे प्रति एकड़ 9000 रु.

अपात्र किसानों की सूचि - 

कृषि विभाग द्वारा प्राप्त जानकारी अनुसार प्रदेश में अभी जांजगीर चाम्पा जिला में प्रधान मंत्री किसान सम्मान निधि के लाभार्थी किसानों की जाँच चल रही है। जिले के अंतर्गत लगभग अभी 7200 अपात्र किसानों की पहचान हुई है। अपात्र किसानों में लगभग 4000 ऐसे किसान है जो इनकम टेक्स पे करते है। वही 3200 के करीब ऐसे किसान है जिनके नाम पर एक इंच जमीन भी नहीं है। फर्जी तरीके से लाभ लेने वाले किसानों से अब वसूली की तैयारी चल रही है। वही क़ानूनी कार्यवाही भी किया जा सकता है। 

अपात्र किसानों से होगी वसूली , पोर्टल से हो रही जानकारी डिलीट- एक ओर जहाँ अपात्र किसानों से वसूली की तैयारी चल रही है , वही गलत तरीके से लाभ ले रहे किसानों की जानकारी को अब प्रधान मंत्री किसान सम्मान निधि पोर्टल की लाभार्थी सूचि से हटाया जा रहा है। समाचार चैनलों एवं न्यूज़ पोर्टलों के माध्यम से पिछले कुछ माह से लगातार गलत तरीके से लाभ लेने वाले किसानों से वसूली की जानकारी प्राप्त हो रही थी। छत्तीसगढ़ सहित देश के कई राज्यों में अपात्र किसानों की पहचान की कार्यवाही शुरू हो गई है। 

अपात्र किसानो की सूचि यहाँ देखें 👇- 

प्रति वर्ष तीन किस्तों में मिलती है राशि - प्रधान मंत्री किसान सम्मान निधि की राशि प्रतिवर्ष तीन किस्तों में 2 - 2 हजार रूपये किसानों के खाते में डायरेक्ट ट्रांसफर किया जाता है। पहली क़िस्त 01 अप्रैल से 31 जुलाई , दूसरी क़िस्त 01 अगस्त से 30 नवम्बर एवं तीसरी क़िस्त की राशि 01 दिसंबर से 31 मार्च के बीच जारी किया जाता है। सरकार द्वारा किसानों को प्रोत्सा हित करने उनके आर्थिक स्तर को सुदृढ़ करने के उद्देश्य से इस योजना की शुरुआत की गई। पात्र किसानो के साथ - साथ अपात्र किसानों ने भी इस योजना का लाभ लेना शुरू कर दिए है। अब उन सभी अपात्र किसानों से वसूली की प्रक्रिया प्रारम्भ हो रही है। 

ऐसे हो रहा फर्जीवाड़ा - 

1. फर्जीवाड़े में कई टेक्स धारक किसान योजना का लाभ ले रहे। 

2. सरकारी पदों में तैनात कई लोगो ने भी इस योजना का उठाया लाभ। 

3. मृत व्यक्तियों के खाते में जा रहा क़िस्त। 

4. एक इंच जमीन नहीं फिर भी ले रहे योजना का लाभ। 

5. 5 एकड़ से अधिक जमीन वाले किसान भी ले रहे लाभ। 

6. कृषि विभाग अब वसूली की कर रही है तैयारी। 

राज्य वार अपात्र किसानों की आकड़े - 

     असम - 8.35 लाख अपात्र किसान , वसूली होगी - 554 करोड़ 

     तमिलनाडु - 7.22 लाख अपात्र किसान , वसूली होगी - 340 करोड़ 

     पंजाब - 5.62 लाख अपात्र किसान , वसूली होगी - 437 करोड़ 

     महाराष्ट्र - 4.45 लाख अपात्र किसान , वसूली होगी - 358 करोड़ 

     उत्तर प्रदेश - 265 लाख अपात्र किसान , वसूली होगी - 258 करोड़ 

     गुजरात - 2.36 लाख अपात्र किसान , वसूली होगी - 220 करोड़ 

नोट - यदि आप पात्र किसान है और अभी तक इस योजना का लाभ नहीं ले पाए है तो कृपया आप भी उक्त योजना  का लाभ लेने हेतु पंजीयन कर सकते है। 

पंजीयन एवं योजना का लाभ लेने हेतु यहाँ ध्यान से देखें और समझें। 

Post a Comment

0 Comments