दो बड़े सरकारी बैंक को प्राइवेट करने की तैयारी , लिस्ट में कई बड़े सरकारी बैंकों के नाम Bank Privatisation Latest News 2021

दो बड़े सरकारी बैंक को निजी करने की तैयारी लगभग पूर्ण , देखें लिस्ट में कौन - कौन से बैंक का है नाम  Preparations To Make Two Big Government Bank Private 

a2zkhabri.com दिल्ली - बैंकिंग सेक्टर में बेहद ख़ास होने वाला है। केंद्र सरकार अपनी योजना के अनुसार देश के कई बड़े सरकारी बैंकों में से दो सरकारी बैंकों को निजी करने की तैयारी पूर्ण कर ली है। पहले चरण में 5 बैंकों का नाम है, जिसमे से पहले चरण में 2 बैंकों का निजीकरण होना तय हो चूका है। आगे के चरणों में भी कई सरकारी बैंकों को निजी करने की प्लानिंग है। 

प्राप्त जानकारी अनुसार निजीकरण के लिए संभावित बैंकों के नामों को अंतिम रूप देने के लिए भारतीय रिजर्व बैंक और वित्त मंत्रालय के वित्तीय सेवाओं और आर्थिक मामलों के विभागों के वरिष्ठ अधिकारीयों के बीच  बैठक होने वाली है। जिसमे कई बड़े एवं अहम् फैसले लिए जाएंगे। ज्ञात हो की अभी देश में 12 सरकारी बैंक है। 

प्राइवेटाइजेशन की लिस्ट में ये बैंक शामिल - बिजेस स्टेण्डर्ड की रिपोर्ट के मुताबिक़ , नीति आयोग ने 4 - 5 बैंकों का नाम सुझाव किये है। माना जा रहा है कि इस बैठक में दो बैंकों के नाम को फ़ाइनल कर लिया जाएगा। प्राइवेटाइजेशन के लिस्ट में बैंक ऑफ़ महाराष्ट्र (Bank Of Maharashtra), इंडियन ओवरसीज बैंक (Indian Overseas Bank), बैंक ऑफ़ इंडिया (Bank Of India ), सेन्ट्रल बैंक (Central Bank)  की चर्चा है। 

प्राइवेटाइजेशन के पहले चरण में सरकार बैंक ऑफ़ महाराष्ट्र और इंडियन ओवरसीज बैंक को प्राइवेट करने मुहर लगा सकती है। कुछ दिनों से इन बैंको के शेयर में भी उछाल दिख रहा है। BSE पर दी गई जानकारी के अनुसार कई डील्स के तहत एक लाख से भी अधिक शेयरों को बदलने के बाद बीएसई पर बैंक ऑफ़ महाराष्ट्र का शेयरों में 15 से 16 प्रतिशत का उछाल आया।

इसे भी देखें- कचरा गाड़ी से ढोया जा रहा कोरोना से मरने वालों के मृत शरीर। 

इसे भी देखें- छ.ग. सीजी बोर्ड 10 वीं कक्षा के छात्रों  को मिलेगी जनरल प्रमोशन - शिक्षा मंत्री 

इन बैंको का नहीं होगा निजीकरण - देश के सबसे बड़े बैंक स्टेट बैंक ऑफ़ इण्डिया के अलावा पंजाब नेशनल बैंक , बैंक ऑफ़ बड़ोदा, यूनियन बैंक, केनरा बैंक को निजी करने की कोई योजना नहीं है। निति आयोग के रिपोर्ट के  मुताबिक स्टेट बैंक ऑफ़ इण्डिया के अलावा पिछले कुछ समय से एकीकरण किया गया है उन बैंकों को प्राइवेट नहीं किया जायेगा। 

बजट में हुआ था निजीकरण का ऐलान - बता दे की केंद्र सरकार ने अपने बजट में बैंकों के निजीकरण का ऐलान किया था। बैंकों के निजीकरण के लिस्ट में बैंक ऑफ़ महाराष्ट्र , इंडियन ओवर सीज बैंक , बैंक ऑफ़ इण्डिया और सेन्ट्रल बैंक का नाम है। अभी तक निजीकरण के लिए बैंकों का चयन अभी फ़ाइनल नहीं किया गया है। बहुत जल्द बैंकों के प्राइवेटेशन प्रक्रिया पूर्ण कर अधिसूचना जारी की जाएगी। 

Post a comment

0 Comments