जोगी जी का सफर - लेक्चरर , IPS , IAS से लेकर मुख्यमंत्री तक जानिए उनके जीवन से सम्बंधित महत्वपूर्ण जानकारियां AJIT JOGI The First CM Of Chhattisgarh

जोगी जी का सफर - लेक्चरर , IPS , IAS से लेकर मुख्यमंत्री तक जानिए उनके जीवन से सम्बंधित महत्वपूर्ण जानकारियां AJIT JOGI The First CM Of Chhattisgarh 

छत्तीसगढ़ के प्रथम मुख्यमंत्री - आज दिनांक 29 मई 2020 को छत्तीसगढ़ के प्रथम मुख्यमंत्री माननीय अजीत प्रमोद जोगी जी का रायपुर के नारायणा अस्पताल में कार्डियक अरेस्ट के कारण निधन हो गया। अजीत जोगी पिछले 20 दिनों से कोमा के हालत में अस्पताल में भर्ती थे। डॉ. उनके स्वास्थ्य को ठीक करने का बहुत प्रयास किये अंततः आज जोगी जी जिंदगी की जंग हार गए और छत्तीसगढ़ के दुलरवा बेटा हम सब को छोड़कर हमेशा के लिए चले गए। 




जोगी जी की तबियत 09 मई को गंगा इमली खाते हुए बीमार हो गए थे। गंगा इमली का  बीज गला में फंस जाने के कारण 09 मई को कार्डियक अरेस्ट आने के बाद उन्हें कोमा के हालत में नारायण हॉस्पिटल रायपुर में भर्ती कराया गया  था। जोगी जी मौत की खबर उनके पुत्र अमित जोगी जी के द्वारा ट्वीट के माध्यम से दिया गया। जोगी जी को शुरू से ही लाइफ सपोर्टर वेंटिलेटर पर रखा गया था। 

सन 2003 के विधानसभा चुनाव के दौरान उनका भयंकर एक्सीडेंट हुआ जिससे रीढ़ की हड्डी टूट गयी। और जोगी जी हमेशा के लिए व्हील चेयर पर आ गए। जोगी जी की हौसला का इसी बात से अंदाजा लगाया जा सकता है की वे पिछले 17 सालों से व्हीलचेयर पर रहते हुए सक्रीय राजनीति कर रहे थे। जोगी जी गरीब,किसान ,मजदुर एवं पिछड़ो के मसीहा थे। वे अपने ढाई साल के मुख्यमंत्री के सफर में किसान,मजदूरों ,गरीबों के उत्थान हेतु महत्वपूर्ण फैसल लिए। छत्तीसगढ़ के सबसे विख्यात एवं बच्चों से लेकर बड़ों के दिलों में राज करने वाले माटी पुत्र जोगी एक विख्यात विद्वान् के साथ- साथ कुशल राजनेता थे। 

जोगी का सफर - जोगी जी ने अपने जीवन काल में विभिन्न पदों को शुशोभित किया वे एक इंजिनियर,लेक्चरर, IPS , IAS ,लोक सभा सांसद ,राज्य सभा सांसद ,विधायक, लेखक ,राजनितिक पार्टी के संस्थापक एवं छत्तीसगढ़ के पहले मुख्यमंत्री रहे। छत्तीसगढ़ के पहले मुख्यमंत्री माननीय अजीत जोगी के सफर को यहाँ संक्षिप्त में जानने की कोशिश करते है। 

1 . माननीय अजीत प्रमोद जोगी का जन्म 29 अप्रैल 1946 को बिलासपुर के पेंड्रा में हुआ था। 

2. 1968 में IPS बने उसके दो साल बाद 1070 में  IAS बने।  वे लगातार 14 वर्ष तक कलेक्टर रहे। 

3. भोपाल के MACT (MANNIT) से मैकेनिकल इंजीनियरिंग की पढाई की और रिकॉर्ड नंबर से टॉप किया। 

4. उन्होंने  रायपुर के इंजीनियरिंग कालेज में प्रोफ़ेसर /लेक्चरर  भी रहे । 

5. अजीत जोगी 1986 से 1998 के बीच दो बार राज्य सभा सांसद रहे। 1998 में वे रायगढ़ से सांसद चुने गए। 

6. छत्तीसगढ़ राज्य बनने के बाद वे सन 2000 से 2003 तक छत्तीसगढ़ के प्रथम मुख्यमंत्री रहे। 

7.  वर्ष 2004 से 2008 तक लोकसभा सांसद रहे व  2008 में  मरवाही से दूसरी बार विधायक बने। 

8. 2009 के लोकसभा चुनाव में महासमुंद से सांसद बने। 

9. जब वे इंदौर के कलेक्टर थे तभी कलेक्टरी छोड़कर राज्य सभा चले गए। तब प्रधानमन्त्री माननीय राजीव गाँधी थे। अजीत जोगी राजीव गाँधी को तब से जानते थे जब जोगी रायपुर के कलेक्टर और राजीव गाँधी पायलट थे। जब गाँधी जी जहाज लेकर पहुंचते थे तब जोगी उनसे मुलाक़ात किया करते थे। 

10. साल 2016 कांग्रेस पार्टी से अलग होकर जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ जोगी (JCCJ ) के नाम से नयी पार्टी बनायीं लेकिन 2018 के विधानसभा चुनाव में अपेक्षित सफलता नहीं मिल पायी। 

11. अजीत जोगी जी अपने जाति को लेकर एवं अंतागढ़ टेप कांड में विवादित रहे। 

12. अजीत जोगी राजनीती के महिर खिलाड़ी के साथ-साथ शिक्षक, इंजिनियर, IPS , IAS, विधायक, सांसद,मुख्यमंत्री रहे। 

13. 29 अप्रैल 1946 को जन्मे और 29 मई 2020 को इस दुनिया को छोड़कर हमेशा के लिए चले गए। 


Post a comment

0 Comments